यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2022: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एवं आवेदन प्रक्रिया, Important method

नमस्कार खबरी हंट में आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है। खाते जानते हैं यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2022 के बारे में।दोस्तों आज भी प्रदेश के पारंपरिक कारीगरों व दस्तकारों जैसे बढ़ई, दर्जी, टोकरी बुनने वाले, नाई , सुनार लोहार, कुम्हार, हलवाई ,मोची आदि मजदूरों की स्थिति बड़ा ही दयनीय है और इन लोगों के पास इतनी पूंजी नहीं है जिसे उपयोग करके वे किसी अच्छे जगह पर अपने कार्य को स्थापित कर सकें या अपने हुनर के माध्यम से अपने बिजनेस को आगे बढ़ा पाए। उसे ऊंचे स्तर पर ले जाए और अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करें या कर पाए। इन सभी परिस्थितियों को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2022 को लाई है।

Table of Contents

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2022 का उद्देश्य

उपरोक्त दिए हुए भूमिका से ही पता चलता है कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश के पारंपरिक कारीगरों एवं दस्तकारों, जैसे की बढ़ई, दर्जी, सुनार, लोहार, टोकरी बुनने वाला, कुम्हार, हलवाई, मोची इत्यादि जितने भी इस कैटेगरी में आने वाले मजदूर हैं उनकी दयनीय स्थिति को ठीक करने एवं उनमें छिपे हुए हुनर एवं कार्य क्षमता को और अधिक निखारने के लिए सरकार ने यूपी विश्वकर्मा श्रम योजना को लाया है। इस योजना के माध्यम से इन कारीगरों को बहुत ही सहायता मिलेगी। साथ में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से इन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करने के साथ-साथ इनको अल्प कालीन ट्रेनिंग के माध्यम से इनकी कार्य क्षमता को बढ़ाने का कार्य भी किया जाएगा।

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के ज़रिये इन सभी मजदूरों को 6 दिन कि फ्री ट्रेनिंग प्रदान करने के साथ स्थानीय दस्तकारों तथा पारंपरिक कारीगरों को छोटे उद्योग स्थापित करने के लिए 10 हजार से लेकर 10 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता भी प्रदान करना है। इस प्रकार इस योजना का उद्देश्य सफल और परिपूर्ण किया जाएगा ताकि यह कारीगर अपने हुनर को इस्तेमाल करके अपने कारोबार को आगे बढ़ाएं और आर्थिक स्थिति को मजबूत करें।

योजना अंतर्गत बांटी गई टूल किट एवं औजार

हम सभी जानते हैं जो भी कारीगर टाइप के लोग होते हैं उन लोगों का जो कार्य होता है उस कार्य के लिए विशेष प्रकार की टूल किट एवं औजार होती है। इन औजारों के बिना यह कारीगर मजदूर किसी काम के नहीं है, अर्थात इन औजारों के बिना कोई काम नहीं कर सकते हैं। इन्हीं लोगों को इस योजना के अंतर्गत उनके कार्य से संबंधित टूल किट एवं औजार बांटी जा रही है।

इसलिए इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विश्वकर्मा दिवस के अवसर पर एक समारोह का आयोजन 17 सितंबर 2021 को किया गया था। यह कार्यक्रम जिला पंचायत सभागार कलेक्ट्रेट में आयोजित किया गया था। इसके माध्यम से विश्वकर्मा श्रम सम्मान प्रशिक्षण टूलकिट एवं प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अंतर्गत विश्वकर्मा सम्मान के लाभार्थियों को ऋण वितरण एवं प्रमाण पत्र वितरण किए गए थे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 50 लाभार्थियों को टूलकिट तथा मुद्रा योजना के 7 लाभार्थियों को ऋण स्वीकृति पत्र के साथ प्रमाण पत्र वितरित किया गया था। कुल मिलाकर 21000 लाभार्थियों को विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत टूल किट प्रदान की गई थी।

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के लाभ:-

  • यह योजना उत्तर प्रदेश राज्य के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के बढ़ई, दर्जी, टोकरी बुनने वाले, नाई, सुनार, लोहार, कुम्हार, हलवाई, मोची जैसे पारंपरिक कारोबारियों तथा हस्तशिल्प की कला जानने वालोें को काफी सहायता प्रदान करेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के बढ़ई, दर्जी, टोकरी बुनने वाले, नाई, सुनार, लोहार, कुम्हार, हलवाई, मोची जैसे पारंपरिक कारीगरों को 6 दिन की फ्री ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। और साथ ही 10 हजार रूपए से लेकर 10 लाख रूपए की आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ उन्हें ऑनलाइन आवेदन करने पर ही मिलेगा जिससे वे घर बैठे इसके लिए आवेदन कर पाएंगे। घर बैठे आवेदन करने का सुविधा इन्हें दिया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के सभी कारीगर टाइप के मजदूरों को अपने आप को साबित करने में एवं आर्थिक रूप से सफल होने में मदद मिलेगी जिससे उन्हें काफी लाभ पहुंचेगा।
  • यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत प्रत्येक वर्ष 15000 कारीगरों को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत जितने भी खर्च इन कारीगरों के ऊपर आएंगे उन सभी खर्चों का वहन उत्तर प्रदेश सरकार करेगी। इस तरह ट्रेनिंग करने में भी इन कारीगरों को कोई खर्चा नहीं देना पड़ेगा और इसका संपूर्ण लाभ उन्हें मिलेगा।
  • इस तरह इस योजना का संपूर्ण लाभ शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के इन पारंपरिक कारीगरों को मिलेगा जिससे उनका संपूर्ण विकास होगा।

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत ट्रेनिंग शिक्षा योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों एवं पारंपरिक कामगारों को अपने स्वयं के कारोबार को आगे बढ़ाने एवं विकसित करने के लिए सरकार द्वारा 6 दिनों का ट्रेनिंग प्रदान की जाती है। ट्रेनिंग प्रदान करने के साथ-साथ इन कारीगरों को 10,000 से लेकर ₹1000000 तक की सहायता राशि प्रदान की जाती है ताकि वे अपने कार्य को सही तरीके से करने के लिए टूल किट एवं औजारों की खरीद भी कर सके। इसके लिए इन लोगों को आवेदन की गई डाक्यूमेंट्स की हार्ड कॉपी एवं आवश्यक दस्तावेजों को संबंधित कार्यालय उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केंद्र में उपलब्ध करवाना पड़ेगा। तब जाकर इन लोगों को इस योजना का संपूर्ण लाभ मिल सकेगा।

इस योजना के अंतर्गत लगने वाले आवश्यक दस्तावेज

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के लिए आवेदन करने हों तो निम्नलिखित दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी जिसकी लिस्ट नीचे दी गई है:-

  1. आवेदन करने वाला व्यक्ति उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  2. आवेदक की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए।
  3. आधार कार्ड
  4. पहचान पत्र
  5. निवास/आवासीय प्रमाण पत्र
  6. मोबाइल नंबर
  7. जाति प्रमाणपत्र
  8. बैंक अकाउंट की पासबुक
  9. पासपोर्ट साइज का फोटोग्राफ

योजना अंतर्गत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन एवं आवेदन प्रक्रिया

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना में रजिस्ट्रेशन एवं आवेदन के इच्छुक लाभार्थी को नीचे दिए गए हर एक स्टेप को फॉलो करने हैं:-

  • इस योजना में रजिस्ट्रेशन एवं आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केंद्र के ऑफिशियल वेबसाइट diupmsme.upsdc.gov.in पर विजिट करना होगा।
  • जैसे ही आप इस पर विजिट करेंगे तो इसके होम पेज पर आपको विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना का ऑप्शन दिखाई देगा। इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • अगले पेज पर आपको न्यु उपयोगकर्ता पंजीकरण के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा।
यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना
  • उपरोक्त दिए गए फार्म के अनुसार, आपको इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे योजना का नाम , स्वयं का नाम, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, पिता का नाम, राज्य, ईमेल आईडी, जिला आदि का चयन करके भरना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा। इस तरह आपका पंजीकरण पूरा हो जायेगा।

इस प्रकार रजिस्ट्रेशन और आवेदन की प्रक्रिया पूरी करने के बाद आप आगे जब भी चाहे अपने इसी रजिस्ट्रेशन नंबर से इस वेबसाइट पर दोबारा लॉगिन कर पाएंगे और अपने आवेदन की स्थिति जान पाएंगे।

आवेदन की स्थिति कैसे जाने/देखें

  • यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के आवेदन की स्थिति को देखने के लिए आपको एक बार फिर इस योजना के ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा। ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करने के बाद होम पेज खुल जाएगा। इस होम पेज पर विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना का ऑप्शन खुल जाएगा इस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • योजना के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद अगला पेज खुल जाएगा जिसमें आवेदन की स्थिति जानने के ऑप्शन पर क्लिक करके अपना लॉगिन पासवर्ड डालना होगा। अर्थात आपको अपना आवेदन की पंजीयन संख्या डालना होगा और पंजीयन संख्या डालने के बाद लॉगइन करना होगा, जिससे आपको अपनी आवेदन की स्थिति प्राप्त हो जाएगी और आप देख पाएंगे कि आपके आवेदन की स्थिति कैसा है।

अगर आप बिहारी भाषा या हिंदी भाषा के वासी हैं और आप गीत संगीत में रुचि रखते हैं या आप एक गायक कलाकार हैं तो आपको गीत लिरिक्स की जरूरत होती होगी जिसके लिए आप हमारे दूसरे वेबसाइट को विजिट कर सकते हैं

Leave a Comment